All She Aspire!

It was a beautiful night The moon was shinning bright Cool breeze was in such a soft flow Even the lit candles didn't blow. Merely happened by some chance For a moment they had a glance Like a whirlwind they passed by each other Though neither of them was a frother. Still when she watched … Continue reading All She Aspire!

Life goes on!

When loved ones exit from your life Leaving a big emotional void Don't sit in a corner and cry Go socialize, do not try to avoid. Life doesn't stop just by few good byes Don't waste it being small and ask silly why's Get up be brave, face it with a smile You really have … Continue reading Life goes on!

The Moon In The Sky!

The Journey commences on a glorious night with full moon hanging in the sky accompanied by thousands of bright twinkling stars. It was absolutely dark inside the bus, as the curtains rolling down the windows, veiled even the glimpse of intensely magical moonlight. All the co-passengers were in deep sleep, oblivious to the splendid view outside … Continue reading The Moon In The Sky!

तेरे होने से!

दिन दोस्ती का है ये सब जश्न मना रहे हैं याराना रहे सलामत हमेशा इसकी क़समें वो खा रहे हैं। ज़िक्र हो दोस्ती का जब तो याद तुम सबसे पहले आते हो हो ग़म की घडियाँ या खुशियों का आलम तुम हर हाल में मेरे साथ थे हरदम। रह ना जाये एक दिन भी कहे … Continue reading तेरे होने से!

तेरे बिना!

तेरे बिना ज़िन्दगी में, कुछ कमी सी है, रुकी हैं सांसे, धड़कन भी थमी सी है। मुस्कुराहट होठों पे, आँखों में नमी सी है, जानी पहचानी राहें भी, अब अजनबी सी हैं। इंतज़ार में तेरे, ये कैसी बेख़ुदी सी है, दिन गुज़रे तन्हा, रातें जगी-जगी सी है। चाहकर भी ना मिल पाने की, दिल में … Continue reading तेरे बिना!

साथ तुम्हारा!

तुम जो मिले तो सहारा मिल गया, डूबती हुई कश्ती को, किनारा मिल गया। सूनी सी थी राहें, इस जीवन की, आँखों को मेरी, दिलकश नज़ारा मिल गया। अजनबी शहर में, महफ़िल थी बेग़ानों की, कहीं उसमें अपना एक, प्यारा मिल गया। सफ़र न था आसां, मंज़िलें भी दूर थी, अच्छा हुआ जो साथ हमको, … Continue reading साथ तुम्हारा!

“क्या यही प्यार है”।  

होके तुमसे जुदा ये हमनें जाना होता है मुश्किल कितना इस दिल को समझाना। दूर होकर भी तुमसे तुम्हें दिल याद नहीं करता भूलने की कोशिश में हर लम्हा गुज़रता है। बात ना हुई तुमसे इसलिए दिल ज़रा भारी है पर फिर भी ख़्वाबों में मिलना तो बदस्तूर जारी है। हर दिन हर पल तेरे … Continue reading “क्या यही प्यार है”।